ग़ज़लों, कविताओं, कहानियों, और बतकहियों की महफ़िल में नवाज़िश, हुज़ूर!

  • FEATURED
    Memories Of An Old Soldier
    Stand I alone in cloistered life
    With reminisce and none else to find;
    Quondam glimpses seeking my mind,
    A tired legionary faded erstwhile.
    My wife, she left me a year afore,
    And children, they said, “Stay home!”
    FEATURED
    The Face
    The face that made my day,
    The one I shall always remember.
    ‘Tis impossible to find a needle in a stack of hay;
    Till my body does time dismember.
    A relief to all my sorrows and pain;
    As nothing lasts forever in the cold November rain.
    FEATURED
    MMV वाली लड़की
    ‘I can’t compromise with myself’—ये ठीक वैसे ही था जैसे श्वेतांक ने बोला था, “मैं खुद के साथ समझौता नहीं कर सकता”. बहुत कुछ कहना चाहती थी तृप्ति मगर क्या कहती. आज उसे समझ में आ रहा था कि उस दिन श्वेतांक सब चुपचाप क्यूँ सुनता रहा था, उसके जाने पर कुछ क्यूँ नहीं बोला. क्यों नहीं रोया था, क्यूँ नहीं रोका था. क्योंकि इंसान को कभी भी, किसी के लिए भी खुद के साथ समझौता नहीं करना चाहिए.
    FEATURED
    A PLEDGE OF DEATH
    Martyrs of the battle looked down in shame
    As a recreant ran from his set fate;
    Every stride away so blemished his name,
    A lone shadow he strode–an apostate.
    FEATURED
    ख़त
    जब लौटने का वक्त आया, तो मेरा दिल जल रहा था। धुएँ से मन भरा जा रहा था। फेंफड़े सिकुड़ रहे थे। ज़बान हलक के नीचे उतर गई थी। गुमसुम था। एक थका-हारा लड़का वापस आ रहा था, घिसटता-पिसटता। सोच रहा था, “यहाँ कैसे आ गई ये औरतें?
    FEATURED
    एक पत्र मृत्यु के नाम
    आज पता चला कि लोगों की यही एक बात सच निकली। मुझे सारा सच साफ़ दिख रहा है आज। ज़िंदगी, जिसे मैंने अपने जान से भी ज़्यादा चाहा था वो मुझे छोड़ कर चली गयी और तुम मेरे दरवाज़े पर हो। कैसे इतना इंतज़ार कर सकता है कोई ? हे मृत्यु ! तुम हीं सच्चा प्रेम हो। साथ रहने का वादा करके सब छोड़ देते हैं, और तुम बिना किसी शर्त के साथ निभाने चली आती हो।
    previous arrow
    next arrow
    Slider
  • A Writer's Paradise